गवरी बाई (वागइ की मीरा), भक्त कवि दुर्लभ, संत राजाराम जी, संत खेताराम जी (gavari bai (vagai ki mira), bhakt kavi durlabh, sant rajaram ji, sant khetaram ji)

गवरी बाई ( वागइ की मीरा ) (gavari bai (vagai ki mira) राजस्थान के दक्षिणी वागड़ अंचल में सगुण कृष्ण भक्ति का अलख जगाने वाली भक्तिमती गवरी बाई का जन्म संवत् 1815 में डूंगरपुर के एक नागर ब्राह्मण परिवार में हुआ था । गवरी बाई को वागड़ की मीरा ‘ कहा जाता है । डूंगरपुर के …

Read moreगवरी बाई (वागइ की मीरा), भक्त कवि दुर्लभ, संत राजाराम जी, संत खेताराम जी (gavari bai (vagai ki mira), bhakt kavi durlabh, sant rajaram ji, sant khetaram ji)

नवल सम्प्रदाय की स्थापना किसने की थी?

naval sampraday ki sthapana kisne ki thi, नवल सम्प्रदाय की स्थापना किसने की थी?, राजस्थान में सम्प्रदाय, संस्थापक -नवल दास जी, नवल सम्प्रदाय की प्रधान पीठ, राजस्थान : धार्मिक एवं सन्त सम्प्रदाय, स्वामी लाल गिरी, संतदासजी, संत नवलदासजी, संत राजाराम जी, swami lal giri ne, santdas ji ne, sant naval das ji ne, sant rajaram ji ne राजस्थान सामान्य …

Read moreनवल सम्प्रदाय की स्थापना किसने की थी?