रैंडम एक्सेस मेमोरी (RAM), RAM के प्रकार, रीड ओनली मेमोरी (ROM) (random access memory(ram), types of ram, read only memory(rom)

0
42

रैंडम एक्सेस मेमोरी (RAM) (random access memory (ram)

रैंडम एक्सेस मेमोरी
रैंडम एक्सेस मेमोरी

कंप्यूटर के पढ़ने और लिखने कि मेमोरी ( आर / डब्ल्यू , Read / Write ) को कंप्यूटर रैंडम एक्सेस मेमोरी कहा जाता है । इसमें उपयोगकर्ता पढ़ने के साथ ही इनफार्मेशन लिख भी सकते हैं । रैम ( RAM ) में किसी भी स्थान का पता निर्दिष्ट करने के बाद उस स्थान तक पहुंचा जा सकता है । RAMको ” Random Access ” माना जाता है क्योंकि इससे हम किसी भी मेमोरी सेल को सीधा access कर सकते है अगर हमे उस मेमोरी सेल का एड्रेस पता हो तो स्टोरेज सेल जो कि बहुत सारे ट्रांजिस्टर से मिलकर बने होते हैं , के अंदर डेटा को स्टोर रख सकते हैं |

1.कंप्यूटर से परिचय, कंप्यूटर की पीढ़िया (computer se prichaya, computer ki pidhiya)

RAM के प्रकार (types of ram)

RAM के दो प्रकार के होते हैं : a . डायनामिकरैम ( DRAM )
b . स्टेटिक रैम ( SRAM )

DRAMसे SRAMइस प्रकार से भिन्न है कि वह समय – समय पर रिफ्ररेश होती रहती है | SRAM DRAMसे तेज होती है । और SRAM की cost ( लागत ) भी ज़्यादा होती है । SRAM सामान्यत : सीपीयू कैश ( CPU Cache ) के लिए उपयोग होती है और DRAMकम्प्यूटर की मुख्य मेमोरी के लिए उपयोग में होती है ।

1.एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर, वेब ब्राउज़र के नाम, डिवाइस ड्राइवर (application software, web browser ke name, device driver)

RAM के कुछ अन्य प्रकार है :

a . EDO ( Extended Data Output ) RAM : EDO RAMs में किसी भी मेमोरी स्थान ( location ) तक पहुँचा जा सकता है । यह 256 इनफार्मेशन बाइट्स latches में स्टोर करता है ।
b . SDRAM ( Synchronous DRAMs ) : ये रैम चिप्स उसी clock rate का उपयोग करती हैं जो सीपीयू करता है ।
c . DDR – SDRAM ( Double Data Rate – SDRAM ) : यह रैम डेटा का स्थानान्तरण घड़ी के दोनों | किनारों ( on both edges of the clock ) पर करता है ।

1.कंप्यूटर से परिचय, कंप्यूटर की पीढ़िया (computer se prichaya, computer ki pidhiya)

रीड ओनली मेमोरी ( ROM ) (read only memory(rom)

यह नॉन – वॉलेटाईल ( non – volatile ) मेमोरी होती है , यह बिजली के चले जाने ( power off ) के बाद भी जानकारी और डेटा को संग्रहित करके रखती है । यह इनफार्मेशन के स्थायी भंडारण ( permanent storage ) के लिए प्रयोग की जाती है । ROM पर स्टोर्ड इनफार्मेशनको परिवर्तित नहीं किया जा सकता है ।

इस मेमोरी में जो भी संग्रहीत किया जाता है

वह हमेशा के लिए तय होता है , अर्थात उसे बदला नहीं जा सकता ।


1.कंप्यूटर की विशेषताएं, सीमा लिमिटेशन (computer ki vishesataye, sima limiteshan)


2.कंप्यूटर की पीढ़िया (computer ki pidhiya)


3.हार्डवेयर व सॉफ्टवेयर, सिस्टम सॉफ्टवेयर, ऑपरेटिंग सिस्टम, विडाजत, यूटिलिटीज (hardware or software, system software, operating system, Windows OS, utilities)




LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here