श्री योजना (Shree yojana)

Spread the love

श्री योजना (Shree yojana)

श्री योजना
श्री योजना

माननीय मुख्यमंत्री महोदय की बजट घोषणा 2014 – 15 के अनुसार राजस्थान सरकार द्वारा गांव के समग्र विकास के दृष्टिकोण से श्री योजना के तहत 5 योजनाओं ग्राम स्वच्छता चिकित्सा एवं स्वस्थ सड़क निर्माण शिक्षा और विद्युतीकरण योजना का ग्राम स्तर पर convergence किया गया है ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग की राजस्थान प्रवृत्ति योजना- डांग, मगरा, मेवात, निर्बन्ध ,एस.एफ.सी आदि योजनाओं के वित्तीय प्रावधानों को शामिल करते हुए जनसंख्या के आधार पर प्राथमिकता के ग्रामीण क्षेत्र का नियोजन विकास किया जाना है इसके प्रथम चरण में समस्त ग्राम पंचायत मुख्यालय एवं 5000 तथा इससे अधिक आबादी वाले गांवों को आगामी 3 वर्षों में सुविकसित किया जाना है|

संपूर्ण ग्रामीण रोजगार योजना (sampuran gramin rojgar yojana)(S.G.R.Y)

योजना के उद्देश्य

श्री योजना(shree) अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्र की 5 मूलभूत आवश्यकताओं यथा 1- s ग्रामीण शौचालय निर्माण एवं ठोस कचरा प्रबंधन 2 – स्वस्थ जल की उपलब्धता 3- गांव की आंतरिक सड़कें में नाली निर्माण
4 – ई- शिक्षा एवं चिकित्सा की सुविधाओं की व्यवस्था
5 – यह ग्रामीण क्षेत्र में रोशनी की व्यवस्था को चिन्हित कर, सुनियोजित विकास किया जाना है

श्री योजना के अंतर्गत समग्र ग्राम विकास कार्य योजना के कार्य संपादन के कोऑर्डिनेटर का विवरण संधारित किया जाना है इस काम में जी.पी.एस, जी.पी.आर.एस पद्धति से कार्यस्थल की लोकेशन कार्य की स्थिति इत्यादि की समीक्षा की जानी है प्रति 5 ग्राम पंचायत के कस्टमर जी.पी एस /जी.पी.आर.एस संयंत्र लिया जाना है

महात्मा गांधी नरेगा से उपलब्ध कराए गए सी.यू.जी मोबाइल का विस्तार करते हुए ग्राम प्रभारियों को सी.यू.जी से जोड़ा जाएगा|

डांग क्षेत्रीय विकास कार्यक्रम, जनता जल योजना (dhang chetriya vikas karyakram, janta jal yojana)

  योजना के लाभ

समग्र विकास हेतु जनसंख्या के आधार पर चरण बंद मास्टर प्लान तैयार किया जाने वाला ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग की विभिन्न योजनाओं पंचायती राज विभाग के अधीन 5 विभागों एवं अन्य कार्यकारी विभागों की योजनाओं व वित्तीय संसाधनों में संभाव्य कर ग्रामीण क्षेत्रों में पांच मूलभूत आवश्यकताएं उपलब्ध कराई जाएगी|

मगरा क्षेत्रीय विकास योजना (magra chetriya vikas yojana)

योजना की पात्रता

श्री योजना अंतर्गत सम्मिलित विभाग द्वारा प्रदेश के समस्त ग्राम पंचायत मुख्यालय 5000 से अधिक आबादी वाले गांवों में वर्तमान में उपलब्ध 5 माल मूलभूत आवश्यकता हो सकता है वह इनका गैप चिन्हित किया जाना है ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग द्वारा श्री योजना अंतर्गत मूलभूत आवश्यकताओं को सर्वोच्च प्राथमिकता से लिया जाना है|

1.मेवात क्षेत्रीय विकास योजना, जिला नवाचार निधि योजना (mevat chetriya vikas yojana, jila navachar nidhi yojana)


2.बायो गैस योजना, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना (bayo gess yojana, pradhanmantri karshi sichai yojana)


3.पश्चिमी राजस्थान गरीबी शमन परियोजना, सीमावर्ती क्षेत्र विकास कार्यक्रम (paschimi rajsthan garibi shaman priyojana, simavarti chetra vikas karyakram)


Leave a Comment