मगरा विकास कार्यक्रम, डांग क्षेत्र विकास कार्यक्रम, मेवात क्षेत्र विकास कार्यक्रम, सीमावर्ती क्षेत्र विकास कार्यक्रम, magra vikas karyakarm, dane chester vikas karyakram, mewat chetra vikas karyakram, simavarti chetra vikas karyakram

Spread the love

मगरा विकास कार्यक्रम, magra vikas karyakarm

क्षेत्रीय विकास कार्यक्रम
क्षेत्रीय विकास कार्यक्रम

अन्य मगरा विकास कार्यक्रम  प्रारंभ 2005-06 में सम्मिलित क्षेत्र मगरा क्षेत्र अजमेर ,भीलवाड़ा, पाली ,चित्तौड़गढ़ व राजसमंद की कुल 14 पंचायत समितियों के 1421 ग्राम उद्देश्य राजस्थान सरकार द्वारा सम्मिलित की आवश्यकता और जन आकांक्षाओं के अनुरूप सामुदायिक परिसंपत्तियों के अन्य आधारभूत भौतिक संपत्तियों का सर्जन कर रोजगार के अवसर सर्जित करके स्थानीय समुदाय के जीवन स्तर में सुधार लाना

सहरिया एवं कथौड़ी जनजाति रोजगार योजना (sahriya avam kathodhi janjati rojagar yojana)

डांग क्षेत्र विकास कार्यक्रम,dane chester vikas karyakram

प्रारंभ– 2005-06

सम्मिलित क्षेत्र – 8 पूर्वी एवं दक्षिणी – पूर्वी जिला – सवाईमाधोपुर, करौली ,कोटा, बूंदी ,धौलपुर, भरतपुर, झालवाड़ा (डांग क्षेत्र) तथा उनकी 21 पंचायत समिति की 357 ग्राम पंचायत हैं

उद्देश्य – सम्मिलित क्षेत्रों में आर्थिक , सामाजिक व अन्य आधारभूत सुविधाओं के विकास एवं अतिरिक्त रोजगार के अवसर उपलब्ध कराए जाएंगे

वित्त- पोषण – यह योजना शत-प्रतिशत राजस्थान सरकार द्वारा वित्त पोषित हैं|

हमारी बेटी एक्सप्रेस, मुख्यमंत्री बीपीएल जीवन रक्षा कोष योजना (mukhyamantri bi.pi.al jivan raksha kosh yojana, hamari beti axpress)

मेवात क्षेत्र विकास कार्यक्रम, mewat chetra vikas karyakram

प्रारंभ – 1987-88

सम्मिलित क्षेत्र– अलवर जिले की 8 पंचायत समितियों तथा भरतपुर जिले की 3 पंचायत समिति में 10% या अधिक परिवार वाले सभी गांव

उद्देश्य – सम्मिलित क्षेत्र में आधारभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाकर लोगों का सामाजिक व आर्थिक स्तर की और उपर उठाना वित्त पोषण राजस्थान सरकार योजना के सफल क्रियान्वयन हेतु राजस्थान सरकार द्वारा मेवात क्षेत्र विकास बोर्ड का गठन 1987-88 को किया गया था

जनजाति कल्याण कार्यक्रम (janjati kalyan karyakram)

सीमावर्ती क्षेत्र विकास कार्यक्रम (बी.ए.डी.पी), simavarti chetra vikas karyakram

प्रारंभ – 1986-07सम्मिलित क्षेत्र – अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर राजस्थान के बाड़मेर, जैसलमेर, गंगानगर ,बीकानेर जिलों के 23 विकास खंडों में है

उद्देश्य – सम्मिलित क्षेत्र में संसाधन विकसित कर सुरक्षा व्यवस्था को कारगर बनाने के उद्देश्य से सातवीं पंचवर्षीय योजना से प्रारंभ किया वित्त पोषण केंद्र सरकार द्वारा किया जाता है यह कार्यक्रम केंद्र सरकार वर्ष 1993-94 से पुनः ‘मॉडिफाइड सीमावर्ती क्षेत्र विकास कार्यक्रम’ के नाम से प्रारंभ हुआ|

1.जननी एक्सप्रेस योजना, मुख्यमंत्री शुभ लक्ष्मी योजना (janani express, mukhyamantri shubh lakshmi yojana)


2.मुख्यमंत्री राजश्री योजना (mukhyamantri rajshree yojana)

Leave a Comment