नि:शक्त सहायता अनुदान योजना, विकलांग पेंशन योजना, आवासीय विद्यालय योजना sc/st/obc, nishakt sahayta anudan yojna, viklang pension yojana, awasiya vidyalaya yojana

Spread the love

नि:शक्त सहायता अनुदान योजना, nishakt sahayta anudan yojna

नि:शक्त सहायता अनुदान योजना
सहायता अनुदान योजना

नि:शक्त सहायता अनुदान योजना व्यक्तियों को शारीरिक रूप से सक्षम बनाने की दृष्टि से निःशुल्क कृत्रिम अंग/ उपकरण एवं स्वरोजगार प्रारंभ करने हेतु आर्थिक सहायता दिए जाने का प्रावधान प्राप्त है |

योजना का उद्देश्य –

नि:शक्त सहायता अनुदान योजना व्यक्तियों को शारीरिक रूप से सक्षम बनाने हेतु निःशुल्क कृत्रिम अंग /उपकरण एवं स्वरोजगार शुरू करने हेतु आर्थिक सहायता दिलवाने आवश्यक हैं|

सामाजिक अधिकारिता विभाग योजना – विश्वास योजना (samajik adhikarita vibhag yojna – visvas yojna)

योजना के पात्रता –

प्रार्थी राजस्थान के मूल निवासी होने चाहिए

जन्म प्रमाण- पत्र उनका होना आवश्यक है

प्रार्थी को मेडिकल बोर्ड द्वारा निःशक्ताता प्रमाण पत्र जारी किया गया हो

प्रार्थी जो किसी रोजगार में हो अथवा स्वरोजगार हो -के परिवार सहित समस्त स्रोतों में वार्षिक आय ₹25,000 से अधिक ने होनी चाहिए

योजना के लाभ –

कृत्रिम अंगों एवं उपकरणों के लिए अधिकतम ₹5,000 तथा स्वरोजगार हेतु ₹5,000 तक की सहायता दी जाती है |


विमंदित महिला एवं बाल गृह, आवासीय विद्यालय योजना (vimndit mahila avam bal garh, aavasiy vidhaly yojna)

विकलांग पेंशन योजना, viklang pension yojana

विकलांग पेंशनधारी को स्वयं का व्यवसाय आरंभ करने हेतु एक मुश्त राशि प्रदान करने की योजना

पेंशनधारी विकलांग व्यक्ति यदि स्वावलंबी बनने के उद्देश्य से अपना व्यवसाय करना चाहे तो उन्हें मासिक फैशन के स्थान पर एकमुश्त ₹15,000 की प्रदान करने की योजना है|

निराश्रित बालगृह योजना (nirasheret balgarh yojna)

योजना के उद्देश्य-

पेंशनधारी विकलांग व्यक्ति यदि स्वावलंबी बनना चाहे तो सहायता/ सहयोग देय हैं

योजना की पात्रता-

आवेदक कोष कार्यालय में पेंशनधारी व्यक्तियों हो

आवेदन राजस्थान के मूल निवासी हो

आवेदक नि:शक्तजन अधिनियम ,1995 के प्रावधानों के अनुसार नि:शक्त होने चाहिए

योजना के लाभ –

आवेदक को विकलांग स्थान पर एक- मुस्त रुपए 15,000 का भुगतान किया जाएगा |


भिक्षावृत्ति अवांछित योजना (bhikshavarti avanchit yojna)

आवासीय विद्यालय योजना, awasiya vidyalaya yojana

राजस्थान में अनुसूचित जनजाति एवं अन्य पिछड़ा वर्ग हेतु आवासीय विद्यालयों का संचालन करना

योजना की पात्रता-

अनुसूचित जाति ,अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग के बालक /बालिका

राजस्थान के मूल निवासी हो एवं गरीब परिवार के बच्चे जिनकी समस्त स्रोतों से वार्षिक आय रु 1 लाख से कम हो

गैर -अनुसूचित जनजाति क्षेत्र में स्थापित आवासीय विद्यालयों में 80% स्थान अनुसूचित जाति के लिए 12% अनुसूचित जनजाति वर्ग हेतु तथा 8% स्थान अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए निर्धारित है तथा अनुसूचित जनजाति क्षेत्र में स्थापित आवासीय विद्यालयों में 80% स्थान अनुसूचित जनजाति को 12% अनुसूचित जाति वर्ग तथा 8% स्थान अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित एवं उपयुक्त है

तथा कुल देशों में से 50% स्थान स्थानीय जिले के छात्र छात्राओं में से भरे जाएंगे तथा शेष 50% राजस्थान के अन्य जिलों के छात्र-छात्राओं को प्राप्त किए जाएंगे

कुल प्रवेशों मैं से 50% स्थान स्थानीय जिले के छात्र-छात्राओं से भरे जाएंगे तथा शेष 50% राजस्थान के अन्य जिलों के छात्र-छात्राओं को दिए गए हैं

बीपीएल, अनाथ, विधवा ,परित्यक्ता महिला परिवार के बच्चों को प्रवेश में प्राथमिकता प्रदान करना

प्रवेश हेतु राजस्थान स्तर के समाचार पत्रों में विज्ञापन जारी कर, आवेदन पत्र आमंत्रित किए जाते हैं

योजना के लाभ –

भोजन, नाश्ता एवं विशेष भोजन एवं आवास की निःशुल्क व्यवस्था

आवासीय परिसर में ही शिक्षण सुविधा एवं बिजली पानी की उचित व्यवस्था

तेल ,साबुन ,बाल ,कटाई, गद्दे, कंबल, चादर, तोलिया, खोली आदि की व्यवस्था एवं धुलाई की व्यवस्था की जाती है

स्कूल यूनिफॉर्म आदि

समाचार पत्र- पत्रिका, टी.वी एवं खेलकूद की व्यवस्था

आमेर का शिलालेख, गोठ मांगलोद का शिलालेख (aamer ka silalekh, goth manglod ka silalekh)


पुरालेखीय स्रोत – नेमिनाथ (आबू), चीरवे का शिलालेख, बीकानेर का शिलालेख (puralekhiy sarot – neminath – aabu, chirve ka shilalekh, bikaner shilalekh)

1 thought on “नि:शक्त सहायता अनुदान योजना, विकलांग पेंशन योजना, आवासीय विद्यालय योजना sc/st/obc, nishakt sahayta anudan yojna, viklang pension yojana, awasiya vidyalaya yojana”

Leave a Comment