राजस्थान की जनगणना 2011, सर्वाधिक जनसंख्या, न्यूनतम जनसंख्या, सर्वाधिक वृद्धि दर, न्यूनतम वृद्धि दर, सर्वाधिक जनसंख्या घनत्व, सर्वाधिक जनसंख्या वाला जिला, rajasthan ki janganna 2011, sarvadhik jansankhya, sarvadhik jansankhya ghanatva, sarvadhik linganupat wala jila, sarvadhik jansankhya wala jila

Spread the love

राजस्थान की जनगणना – 2011(rajasthan ki janganna – 2011) :-

राजस्थान की जनगणना - 2011
राजस्थान की जनगणना – 2011

  जनगणना –2011 की जनगणना के अंतिम आंकड़ों के अनुसार राजस्थान की जनसंख्या 6,85,48,437 है तथा इस दृष्टि में राजस्थान का देश में आठवां स्थान है- उत्तर प्रदेश , बिहार , महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल , आंध्रप्रदेश , मध्यप्रदेश  एवं तमिलनाडु की जनसंख्या
राजस्थान की जनगणना – 2011  अधिक है तेलंगाना के गठन (2 जून 2014 ) के पश्चात राजस्थान जनसंख्या की दृष्टि में देश का सातवां सबसे बड़ा राज्य सुनिश्चित हो गया था |

-सर्वाधिक जनसंख्या वाला जिला राजस्थान में  जयपुर 66.26 है जबकि जैसलमेर जिले में सबसे कम आबादी 6.7 लाख मिलती हैं जोधपुर ,जयपुर ,अलवर ,नागौर एवं उदयपुर सर्वाधिक जनसंख्या वाले जिले हैं |

राजस्थान में सहकारिता आंदोलन (rajasthan me sahakarita aandolan)


राजस्थान में जनसंख्या का घनत्व(rajasthan me jansnkhya ka ghantve)  


इस में जनसंख्या का घनत्व 200 व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर है सर्वाधिक जनसंख्या घनत्व वाले जिले पूर्वी राजस्थान में जयपुर (595 ) ,भरतपुर(503), दोसा (476), अलवर (438) एवं धौलपुर (398)जबकि सबसे कम जन घनत्व वाले जिले जैसलमेर (17), बीकानेर (78) ,बाड़मेर (92),चूरू(147)एंव जोधपुर (161) रेगिस्तानी प्रदेश में मिलते हैं |

प्रति हजार पुरुषों पर 928 महिलाएं हैं सर्वाधिक लिंगानुपात दक्षिणी राजस्थान एवं गोंडवाना क्षेत्र में पाया जाता है | डूंगरपुर (994) ,राजसमंद(990) ,पाली (987) ,प्रतापगढ़ (983) एवं बांसवाड़ा (980)सर्वाधिक लिंगानुपात वाले जिले उपस्थित हैं |2011 की जनगणना में राजस्थान के किसी भी जिले में 1000 सेअधिक लिंगानुपात नहीं पाया गया लिंग अनुपात के सबसे खराब स्थिति धौलपुर (846),जैसलमेर(852) जिलों में पाई जाती हैं |

–   हमारा प्रदेश देश में कम साक्षरता वाले राज्यों में शुमार हैं 2011 के अंतिमआंकड़ों के अनुसार राजस्थान की साक्षरता दर 66.1 प्रतिशत पाई गई हैं | इसमें पुरुष साक्षरता (72.2) प्रतिशत एवं महिलाएं साक्षरता 52.1% इन दोनों के मध्य 27.1 प्रतिशत का एक बड़ा अंतर पाया गया |

–   कोटा ,जयपुर,झुंझुनू ,सीकर जिलों में साक्षरता की स्थिति बहुत अच्छी है देश में शिक्षा के प्रमुख क्षेत्र या केंद्र कोटा में सर्वाधिक क्षेत्र 76.60% सेअधिक साक्षर लोग निवास करते हैं इसके अलावा राजस्थान की राजधानी राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में सम्मिलित अलवर जिले एवं शेखावाटी क्षेत्र में साक्षरता की अच्छी देखने को मिलती हैं |

–   महिला साक्षरता की दृष्टि से जालोर (38.5%), सिरोही (39.7) प्रतिशत एवं जैसलमेर में (39.7%) से अधिक पिछड़े हुए हैं इन जिला में पशुपालन या चलवासी (निष्क्रमणी) पशु चारण की प्रकृति के चलते बालिका शिक्षा पर कम ध्यान दिया जाता है |

राजस्थान में कांच उद्योग, कागज उद्योग, सीमेंट उद्योग (rajasthan me kanch uddhog, kagaj, cement uddhog)


सर्वाधिक जनसंख्या वाले जिले(sarwadhik jansakhiya wale jile)

–  सर्वाधिक जनसंख्या वाले 5 जिले

1 . जयपुर।          66,26,178

2 .  जोधपुर।         36,87,165

3.  अलवर।          36,74,179

4.   नागौर।          33,07,743

5.   उदयपुर।        30,68,420

–   न्यूनतम जनसंख्या वाले 5 जिले

1. जैसलमेर।          6,69,919

2.  प्रतापगढ़।          8,67,848

3.  सिरोही।           10,36,346

4.  बूंदी।             11,10,906

5.   राजसमंद।          11,56,597

–   सर्वाधिक जनसंख्या वृद्धि दर वाले 5 जिले

1. बाड़मेर।             32.5

2. जैसलमेर।            31.8

3.  जोधपुर।             27.7

4. बांसवाड़ा।             26.5

5. जयपुर , जालौर।     26.2

         न्यूनतम जनसंख्या वृद्धि दर वाले 5जिले

1.  श्री गंगानगर।             10.0

2.  झुंझुनू।                  11.7

3. पाली।                    11.9

4. बूंदी।                    15.4

5. चित्तौड़गढ़।                16.1

राजस्थान के प्रमुख उद्योग (rajasthan ke parmuk uddog) :- सूती वस्त्र उद्योग(suti vastra uddog), चीनी उद्योग(chini uddog), ऊन उद्योग(uhun uddog)

–  सर्वाधिक लिंगानुपात वाले 5 जिले

1. डूंगरपुर।                  994

2.  राजसमंद।                990

3. पाली।                    987

4. प्रतापगढ़।                 983

5. बांसवाड़ा।                 980

–   न्यूनतम लिंगानुपात वाले 5 जिले

1.  धौलपुर।               846

2. जैसलमेर।              852

3.  करौली।                861

4. भरतपुर।               880

5. श्रीगंगानगर             887

राजस्थान में औद्योगिक विकास(rajasthan me odhogik vikas)

–  सर्वाधिक घनत्व वाले 5 जिले

1. जयपुर।                 595

2. भरतपुर।                503

3. दोसा।                   476

4. अलवर।                 438

5. धौलपुर।                 398

–   न्यूनतम घनत्व वाला 5 जिला

1.जैसलमेर।                17

2.बीकानेर।                78

3. बाड़मेर।                 92

4.चुरु।                    147

5.जोधपुर।                 161

1.राजस्थान के उद्योग(rajasthan ke uddhog) – विभाग(vibhag), निगम(nigam), कंपनी(campani)


2.राजस्थान में बायोगैस ऊर्जा संसाधनों का विकास(rajasthan me bayoges urja sansadhano ka vikash) – बायोमास ऊर्जा(bayomas urja), ऊर्जा : शेष – विशेष(urja: sesh – visesh)

Leave a Comment