जीवन के प्रथम 2 वर्षोंं में बालक अपने भावी जीवन का शिलान्यास करता है। यद्यपि किसी भी आयु में उसमें परिवर्तन हो सकता है, पर प्रारम्भिक प्रवृत्तियाँ व प्रतिमान सदैव बने रहते हैं। यह परिभाषा किसने दी है?

Spread the love

जीवन के प्रथम 2 वर्षोंं में बालक अपने भावी जीवन का शिलान्यास करता है। यद्यपि किसी भी आयु में उसमें परिवर्तन हो सकता है, पर प्रारम्भिक प्रवृत्तियाँ व प्रतिमान सदैव बने रहते हैं। यह परिभाषा किसने दी है?


[td_block_9 custom_title=”Education Psychology Quiz” separator=”” category_id=”2025″ sort=”random_posts” ajax_pagination=”load_more” tdc_css=””]

Leave a Comment